2021/07/81-coronavirus.jpg

कोरोना संक्रमण से हुई मौत तो पड़ोस के परिवार ने डर की वजह से 15 माह तक खुद को घर में कैद कर लिया, पुलिस ने रेस्क्यू कर अस्पताल में भर्ती कराया

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
22 Jul 2021

ईस्ट गोदावरी (आंध्र प्रदेश). कोरोना संक्रमण पड़ोसी की हुई मौत का एक परिवार पर ऐसा डर बैठा था कि वे 15 माह तक घर से बाहर नहीं निकलें, उन्होंने खुद को घर में कैद कर लिया था. सरपंच की सूचना पर पहुंची पुलिस ने उन्हें घर से बाहर निकाला और इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है. 

मामला आंध्र प्रदेश के ईस्ट गोदावरी में कदाली गांव का है. गांव के सरपंच चोपल्ला गुरुनाथ ने बताया कि रुथम्मा (50), कांतामणि (32) और रानी (30) ने खुद को इसलिए घर में कैद कर लिया था, क्योंकि उनके एक पड़ोसी की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हो गई थी.

सरपंच ने पुलिस को सूचना दी 

इस बात की जानकारी सरपंच ने पुलिस को दी. सरपंच ने बताया कि सरकारी आवास योजना के तहत जब इस परिवार के सदस्यों का अंगूठे का निशान लेने गया तो पता चला कि यह परिवार 15 माह से घर में कैद है. उन्हें बाहर निकलने और दरवाजा खोलने की काफी गुजारिश की. लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला. सरपंच के मुताबिक़ घर के सदस्यों की हालत काफी खराब थी, इसलिए ग्रामीणों के साथ मिलकर इस बात की सूचना पुलिस को दी.

पड़ोसी की कोरोना से हुई थी मौत, भय में था पूरा परिवार

सरपंच के मुताबिक़ पड़ोसी की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी. इस वजह से पूरा परिवार डरा सहमा हुआ था. उन्होंने खुद को घर में कैद कर लिया. कोई भी स्वास्थ्यकर्मी जब इनके घर पहुंचता था तो ये लोग जवाब नहीं देते थे. इस वजह से इनकी स्थिति का पता नहीं चल पाया.

पुलिस ने रेस्क्यू कर घर से निकाला और अस्पताल में भर्ती किया 

सरपंच की सूचना पर पुलिस घर पहुंची. इसके बाद भी किसी ने दरवाजा नहीं खोला. तब पुलिस ने उन्हें कैद से निकालने के लिए रेस्क्यू किया. पुलिस के मुताबिक़ घर के सभी 3 सदस्यों की हालत काफी खराब थी. कई महीनों से नहाए नहीं थें, और न ही बाल कटवाए थें. हालत भी नाजुक थी. इसलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां सभी का इलाज चल रहा है. 

ये भी पढ़ें-
Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER