AYUSH_64.jpg

जानिए कोरोना की आयुर्वेदिक दवा AYUSH-64 के बारे में, कितनी है असरदार....

RewaRiyasat.Com
Ankit Neelam Dubey
04 May 2021

पॉलीहेरल दवा AYUSH-64 जो मूल रूप से मलेरिया के इलाज के लिए 1980 में विकसित की गई थी, अब COVID-19 के लिए असरदार बताई जा रही है। केंद्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (CCRAS), आयुर्वेद को समर्पित आयुष मंत्रालय के तहत एक शोध संस्थान, ने हाल ही में वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) और कई अन्य अनुसंधान संगठनों और मेडिकल कॉलेजों के साथ देश भर में दवा के व्यापक और मजबूत नैदानिक ​​परीक्षणों का समापन किया। देश के प्रतिष्ठित वैज्ञानिकों के नेतृत्व में किए गए परीक्षणों से पता चला कि AYUSH-64 में एंटीवायरल, इम्यून-न्यूनाधिक और एंटीपीयरेटिक गुण हैं। यह लक्षण-रहित (Asymptomatic), हल्के और मध्यम COVID-19 संक्रमण के उपचार में उपयोगी पाया जाता है। नतीजतन, दवा को अब COVID-19 के लिए फिर से तैयार किया गया है।
29 अप्रैल 2021 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नैदानिक ​​परीक्षणों के निष्कर्षों की मंत्रालय द्वारा घोषणा से AYUSH-64 के साथ-साथ चिकित्सा चिकित्सकों में भी काफी रुचि पैदा हुई है।

AYUSH-64

अभी ऑनलाइन मंगाए AYUSH-64 हर्बल टेबलेट्स - क्लिक करे

AYUSH-64 कौन ले सकता है 

यह COVID-19 बीमारी के किसी भी स्तर पर रोगियों द्वारा लिया जा सकता है। हालांकि, इसकी प्रभावशीलता लक्षण-रहित (Asymptomatic), हल्के और मध्यम बीमारी में वैज्ञानिक रूप से अध्ययन की गई थी और जिन्हें आपातकालीन हस्तक्षेप या अस्पताल में भर्ती की आवश्यकता नहीं होती है, वे AYUSH-64 ले सकते हैं। COVID-19 मामलों में हल्के से मध्यम दर्जे के मरीज जैसे बुखार, अस्वस्थता, शरीर में दर्द, नाक बंद, नाक से पानी आना, सिरदर्द, खांसी आदि और COVID-19 के स्पर्शोन्मुख मामलों में, AYUSH-64 को RT-PCR टेस्ट के बाद 7 दिनों के भीतर लेना शुरू कर सकते हैं। 

यह भी पढ़े: Moto G40 Fusion की बिक्री भारत में शुरू, देखे स्मार्टफोन पर चल रहे ऑफर्स, स्पेसिफिकेशन्स

किस तरह ले AYUSH-64?

लक्षण-रहित COVID-19 के मामलों में इसकी खुराक के तहत खाना खाने के एक घंटे बाद 500 एमजी की दो गोली दो बार लेनी है। गर्म पानी के साथ दवा खानी है। चौदह दिनों तक गोलियां खानी हैं। हल्के और कम गंभीर मामलों में खुराक के तहत 500 एमजी की दो-दो गोलियां दिन में तीन बार लेनी हैं। गोलियां गर्म पानी के साथ खाना खाने के एक घंटे बाद लेनी हैं।

क्या AYUSH-64 के साइड-इफेक्ट्स हैं?

कुछ मरीजों को पेचिश की शिकायत हो सकती है, जो अपने आप ठीक हो जायेगा। उसके लिये कोई दवा खाने की जरूरत नहीं है। वैज्ञानिक अध्ययन में ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला है कि आयुष-64 गर्भवती और दुग्धपान कराने वाली माताओं के लिये सुरक्षित है।

अभी ऑनलाइन मंगाए AYUSH-64 हर्बल टेबलेट्स क्लिक करे

 

यह भी पढ़े: Motorola, Samsung और अन्य स्मार्टफोन ब्रांड दे रहे अपने स्मार्टफोन्स पर भारी छूट, जल्द देखे ऑफर्स

SIGN UP FOR A NEWSLETTER