FDI.jpg

Foreign Direct Investment: April, 2020 से January, 2021 तक भारत में हुआ 72.12 billion $ का निवेश

RewaRiyasat.Com
Ankit Neelam Dubey
05 Apr 2021

Foreign Direct Investment( April 2020 - January 2021) केंद्र द्वारा किये गए नयी नीतिया, निवेश सुगमता और व्यापार करने में आसानी के मोर्चों पर सरकार द्वारा किए गए उपायों के परिणामस्वरूप देश में Foreign Direct Investment में वृद्धि हुई है। भारत में अप्रैल 2020 से जनवरी 2021 के दौरान यूएस $ 72.12 बिलियन का कुल FDI प्रवाह आकर्षित किया है। 2019-20 के पहले दस महीनों (यूएस $ 62.72 बिलियन) की तुलना में वित्तीय वर्ष 2020-21 के पहले दस महीनों में हुआ निवेश 15% अधिक है।


2020-21 के पहले दस महीनों में एफडीआई इक्विटी प्रवाह यूएस $ 54.18 बिलियन की तुलना में 2019-20 के पहले दस महीनो की अवधि में यूएस $ 42.34 बिलियन है जो 28% की बढ़त दर्शाता है। चालू वित्त वर्ष 2020-21 के पहले दस महीनों में शीर्ष निवेशक देशों के संदर्भ में, 'सिंगापुर' 30.28% के एफडीआई इक्विटी प्रवाह के साथ शीर्ष पर है, संयुक्त राज्य अमेरिका (24.28) के साथ दूसरे स्थान पर और यूएई (7.31%) तीसरे स्थान पर है। 
जापान जनवरी 2021 के दौरान कुल एफडीआई इक्विटी प्रवाह का 29.09% के साथ भारत में निवेश करने के लिए निवेशक देशों की सूची में अग्रणी रहा है, इसके बाद सिंगापुर (25.46%) और USA (12.06%) का स्थान है।

यह भी पढ़े : 5 वर्षों में Stand-Up India योजना के तहत सरकार ने मंजूर किये 25,586 करोड़ रूपए

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर कुल एफडीआई इक्विटी प्रवाह का 45.81% के साथ 2020-21 F.Y के पहले दस महीनों के दौरान शीर्ष क्षेत्र के रूप में उभरा है और कंस्ट्रक्शन सेक्टर (इंफ्रास्ट्रक्चर) 13.37% के साथ दूसरे और सेवा क्षेत्र 7.80% के साथ तीसरे पर है। 

जनवरी, 2021 के महीने के दौरान दिखाए गए डाटा के अनुसार, कंसल्टेंसी सेवाएं 21.80% के एफडीआई इक्विटी प्रवाह के साथ शीर्ष क्षेत्र के रूप में उभरा। दूसरे पर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर (15.96%) और सेवा क्षेत्र (13.64%) के  साथ तीसरे पर है। 

यह भी पढ़े : LCA Tejas Fighter Jet export: मलेशियाई एयरफोर्स टीम "MADE IN INDIA" तेजस फाइटर जेट के trial के लिए जल्द करेगी भारत का दौरा

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER