MP News : मप्र विधानसभा के 18वें निर्विरोध अध्यक्ष बने विंध्य के गिरीश गौतम, सम्हाली कुर्सी, सत्र की शुरू की कार्रवाई

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
22 Feb 2021

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष के पद को लेकर चली आ रही उहापोह की स्थित सोमवार को समाप्त हो गई। रीवा जिले के देवतालाब विधानसभा से भाजपा विधायक गिरीश गौतम निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष पद पर असीन हो गये है।  

विधानसभा का बजट सत्र सुबह 11 बजे शुरू हुआ, सबसे पहले प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू कराई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहन ने 4 बार के ‌विधायक गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष बनाने जाने का प्रस्ताव रखा। इसका समर्थन गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया।

कांग्रेस ने नही की उम्मीदवारी

कांग्रेस की तरफ से इस पद के लिए किसी भी विधायक ने नामांकन दाखिल नहीं किया। ऐसे में गौतम विधानसभा के निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित हो गए। अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान मान्य परंपराओं का पालन किया गया। 

विधानसभा में राज्यपाल श्रीमती @anandibenpatel का अभिभाषण। https://t.co/7T4nRNGp4X

— Office of Shivraj (@OfficeofSSC) February 22, 2021

पूर्व अध्यक्ष को माना मार्गदर्शक

निवार्चन के बाद विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा कि मैं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डा. सीतासरन शर्मा और एनपी प्रजापति को अपना मार्गदर्शक मानूंगा। करीब 90 विधायक नए चुन कर आए हैं। कोरोना के कारण नए विधायकों को सदन की कार्यवाही का अनुभव नहीं हो पाया है। सीनियर विधायकों से अपेक्षा है कि वे नए विधायकों को अनुभव साझा करें।

2 मार्च को पेश होगा बजट 

सोमवार को शुरू हुए सत्र में मुख्य रूप से वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया जाना है। 26 मार्च तक निर्धारित इस 33 दिवसीय सत्र में 23 बैठकें होना हैं। सदन में 2 मार्च को बजट पेश किया जाएगा।

छात्र राजनीति से विधानसभा अध्यक्ष का सफर

छात्र जीवन में राजनीति शुरू करने के बाद तीसरी बार देवतालाव से विधायक निर्वाचित होने वाले गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष बना दिया गया है। गिरीश गौतम पहले मनगंवा और तीन बार से देवतालाब विधानसभा का प्रतिनिधित्व कर विधानसभा पहुंचे थे। सीपीआई से 1993व 98 का चुनाव में उन्हें कांग्रेस पार्टी के दिग्गज कहे जाने वाले पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी से शिकस्त का सामना करना पड़ा था। 

MP News : मप्र विधानसभा के 18वें निर्विरोध अध्यक्ष बने विंध्य के गिरिश गौतम, सम्हाली कुर्सी, सत्र की शुरू की कार्रवाई
वर्ष 2003 में भाजपा की टिकट पर मनगवां विधानसभा से गिरीश गौतम चुनाव लड़े, उन्होंने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी को शिकस्त देने के बाद वापस मुड़ कर नही देखा और 2008 में मनगवां  विधानसभा सीट आरक्षित होने पर भाजपा ने उन्हें पड़ोसी सीट देवतलाव भेजा जहां से वह लगातार 2008, 2013 व 2018 में जीत दर्ज करके विधानसभा पहुचे और आज विधानसभा की कुर्सी में अपनी सूझबूझ से आसीन होकर एक अच्छे राजनेता का परिचय दिये है। ज्ञात हो कि श्री गौतम ने जंहा तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष रहे श्री निवास तिवारी को चुनाव हराकर विधानसभा पहुचे थे वही विधानसभा अघ्यक्ष का पद भी अब हासिल कर लिया है। 

राज्यपाल ने बताई 11 महीने की उपलब्धि

विधानसभा अध्यक्ष चुन जाने के बाद मध्यप्रदेश की प्रभारी राज्यपाल आंनदी वेन ने अपने अभिभाषण दिया। उन्होने प्रदेश की सत्तासीन भाजपा सरकार के 11 महीनो की उपलब्धी को सरल शब्दो में विधानसभा को बताया। उन्होने कहां कि सरकार गठन होने के बाद कोरोना महामारी से निपटना एक बड़ी चुनौती थी। सरकार इस चुनौती पर खरी उतरी और आज सुनियोजित वैक्सीनेशन की व्यावस्था बनाई है। उन्होने बताया कि सरकार ने उर्जा में 10 गुना वृद्धि की और बिजली का उत्पादन बढ़ाया है। स्वच्छ भारत मिशन में एमपी ने तीसरा स्थान देश में बनाया है। सड़को के नेटवर्क में सुधार हुआ है।

लड़कियों को छात्रवृत्ति देने के साथ ही धर्म स्वतंत्र विधेयक कानून भी सरकार ने पारित किया है। उन्होने कहां कि शिक्षा और अर्थव्यस्था प्रदेश की मजबूत हुई है। यह आत्म निर्भर मध्यप्रदेश एवं आत्मनिर्भर भारत की दिशा में बढ़ाया जा रहा कदम है। राज्यपाल का अभिभाषण समाप्त होने के बाद विधानसभा का यह सत्र स्थगित कर दिया गया है। मंगलवार को बजट पर सुबह 6 बजे से विधानसभा में एक बार फिर से गरमा-गरम बहस शुरू होगी। 

64MP क्वाड कैमरा, 7000MAH बैटरी से लैस Samsung Galaxy F62 की सेल शुरू, मिल रहा भारी डिस्काउंट

ट्रक ने 40 वर्षीय युवक को कुचला, मौके पर हुई दर्दनाक मौत

Satna : अवैध संबंधों को छिपाने डेंटिस्ट ने की असिस्टेंट की हत्या, कत्ल का राज छिपाने प्रेमिका के साथ...

SIGN UP FOR A NEWSLETTER